Home » जेके टायर का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़ा
Business Featured

जेके टायर का शुद्ध लाभ तीन गुना बढ़ा

भारतीय टायर उद्योग की प्रमुख कंपनी, जेके टायर एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड (जेके टायर) ने वित्त वर्ष 2024 की दूसरी तिमाही के लिए अपने अनअंकेक्षित परिणामों की घोषणा की है।

समेकित आधार पर, शुद्ध राजस्व 4 प्रतिशत बढ़कर रु. 3,905 करोड़ हो गया और एबिडिटा  वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 305 करोड़ रुपये की तुलना में बढ़कर 597 करोड़ रुपये हो गया। उक्त अवधि में कंपनी ने कर पूर्व लाभ 377 करोड़ रुपये एवं कर पश्चात  लाभ 249 करोड़ रुपये का अर्जित किया है ।

परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, चेयरमैन एण्ड मैनेजिंग डायरेक्टर (सीएमडी) डॉ. रघुपति सिंघानिया ने कहा, “जेके टायर ने लाभप्रदता में कई गुना वृद्धि के साथ वित्त वर्ष 24  की  दूसरी तिमाही  में राजस्व में अपना मजबूत प्रदर्शन जारी रखा है। बड़े बाजार में उपस्थिति पर निरंतर जोर ने सभी खंडों और उत्पाद श्रेणियों में बिक्री को बढ़ावा दिया। संपूर्ण रेडियल रेंज, पीसीआर/एलटीआर/टीबीआर में उत्पाद मिश्रण के संवर्धन पर रणनीतिक फोकस के सकारात्मक परिणाम आए हैं। लागत में कमी और आंतरिक दक्षता बढ़ाने के लिए चल रहे प्रयास हमारे परिचालन का आधार बने हुए हैं।

उन्होंने आगे कहा क्रमिक तिमाही में, “निर्यात बिक्री में भी दो अंकों की स्वस्थ विकास दर दर्ज की गई है ।”

जेके टायर की सहयोगी कंपनियां कैवेंडिश इंडस्ट्रीज लिमिटेड (सीआईएल) और जेके टॉर्नेल, मैक्सिको कंपनी ने भी बेहतर प्रदर्शन किया है एवं कंपनी के समग्र राजस्व और लाभप्रदता में महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं। तिमाही के दौरान सीआईएल ने लाभ मार्जिन में वृद्धि दर्ज की है।

हमें उम्मीद है कि देश की जबरदस्त मजबूत अर्थव्यवस्था के कारण हम आगे भी मजबूत प्रदर्शन जारी रखेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि “जेके टायर के लिए लगातार दूसरे वर्ष ‘बेस्ट इन क्लास’ ईएसजी ग्रेडिंग हासिल करना बहुत गर्व की बात है, जो स्थिरता के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का समर्थन करता है और “हरित और विश्वसनीय मोबिलिटी पार्टनर” बनने के हमारे दृष्टिकोण को मजबूत करता है।

जेके टायर को हाल ही में ईएसजी और सीएसआर उत्कृष्टता के लिए महात्मा फाउंडेशन, यूएनडीपी और आदित्य बिड़ला समूह की ओर से एक पहल के तहत महात्मा पुरस्कार-2023 से सम्मानित किया गया है।