Home » टीसीआई के राजस्व में 7.8% की वृद्धि, लाभ 8.7% बढ़ा
Business Featured

टीसीआई के राजस्व में 7.8% की वृद्धि, लाभ 8.7% बढ़ा

भारत की अग्रणी एकीकृत आपूर्ति श्रृंखला और लॉजिस्टिक्स समाधान प्रदाता, ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने 30 जून 2023 को समाप्त होने वाली वित्त वर्ष 24 की पहली तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की। तिमाही के लिए कंपनी का कुल राजस्व पिछले वर्ष की इसी तिमाही की तुलना में 7.8 प्रतिशत अधिक है,  वहीं इस अवधि के दौरान लाभ में 8.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

एकीकृत आधार पर वित्त वर्ष 24 की पहली तिमाही बनाम वित्त वर्ष 23 की पहली तिमाही के दौरान परिचालन राजस्व 8,875 मिलियन रुपये रहा जो सालाना 7.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है, एबिटा वित्त वर्ष 2023 के 1,151 मिलियन रुपये के मुकाबले 1,244 मिलियन रुपये का रहा। शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2023 के 766 मिलियन रुपये के मुकाबले 833 मिलियन रुपये का रहा जो 8.7 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

समेकित आधार पर वित्त वर्ष 2024 की पहली तिमाही बनाम वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही के दौरान परिचालन राजस्व 9,583 मिलियन रुपये रहा जो 5.5 प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि दर्शाता है, एबिटा वित्त वर्ष 2023 के 1,191 मिलियन रुपये के मुकाबले 1,267 मिलियन रुपये का रहा। शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2023 के 786 मिलियन रुपये के मुकाबले 832 मिलियन रुपये का रहा जो 5.9 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है।

नतीजों पर टिप्पणी करते हुए टीसीआई के एमडी विनीत अग्रवाल ने कहा, “कंपनी ने कम उपभोक्ता मांग, एक्जिम व्यापार में मंदी और मध्यम ऋण वृद्धि जैसी उद्योग की बाधाओं के बावजूद स्थिर प्रदर्शन किया है। 

ऑटोमोटिव सेगमेंट में भारी मांग के साथ-साथ, हमारे वेयरहाउसिंग, 3PL सेवाओं और उभरते वर्टिकल समाधानों ने तेजी दर्ज की है। इसके अलावा, अच्छे मॉनसून और आगामी त्योहारी सीजन के कारण ब्रांड्स की मांग में इजाफा होगा।

संधारिता, हमारी कार्यप्रणाली का मूलाधार है जिससे हमारे ग्राहक अपने विशुद्ध-शून्य जलवायु लक्ष्यों को पूरा करने में सक्षम हो रहे हैं। टीसीआई, डब्ल्यूआरआई इंडिया और वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के सहयोग से नीति आयोग की घोषणा के अनुसार भारत के पहले शून्य उत्सर्जन सड़क माल क्लस्टर पर चलने के लिए अगले 18-24 महीनों में शून्य उत्सर्जन ट्रकों का परिचालन करने के लिए प्रतिबद्ध है।