Home » दिल्ली में 15 फरवरी से एक्रेक्स इंडिया का आयोजन
Business Featured

दिल्ली में 15 फरवरी से एक्रेक्स इंडिया का आयोजन

जाने-माने संगठन इंडियन सोसाइटी ऑफ हीटिंग, रेफ्रीजरेशन एण्ड एयर कंडीशनिंग इंजीनियर्स ((ईशरे) द्वारा भारत के प्रमुख व्यापार प्रदर्शनी आयोजनकर्ता इर्न्फोमा मार्केट्स इन इंडिया के सहयोग से आयोजित एक्रेक्स इंडिया (ACREX India) के 23वें संस्करण का आयोजन 15 से 17 फरवरी 2024 के बीच इंडिया एक्सपो मार्ट, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली-एनसीआर में होगा। यह आयोजन एयर कंडीशनिंग, हीटिंग, वेंटीलेशन और इंटेलीजेन्ट बिल्डिंग्स को समर्पित दक्षिण एशिया की सबसे बड़ी प्रदर्शनी है, जिसका विषय ‘पावरिंग ग्लोबल एचवीएसी सप्लाई चेन’ है। प्रदर्शनी भारत में एचवीएसी मैनुफैक्चरिंग सेक्टर के विकास पर फोकस करेगी, एक अनुमान के मुताबिक यह सेक्टर 2028 तक  रु 1,78,000 करोड़ तक पहुंच जाएगा।

एक्रेक्स इंडिया 2024 देशी-विदेशी निर्माताओं को सरकारी अधिकारियों, उद्योग जगत के दिग्गजों एवं उपयोगकर्ताओं के साथ जोड़ने और उनके कारोबार लक्ष्यों को हासिल करने के लिए मंच प्रदान करेगा। एक्सपो 40 देशों के 500 से अधिक प्रदर्शक शामिल होंगे जिसमें बेल्जियम, चीन, चैक गणराज्य, इजिप्ट, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, कोरिया, मलेशिया, सउदी अरब, सिंगापुर, स्पेन, स्विट्ज़रलैण्ड, ताईवान, नीदरलैण्ड्स, यूएई, यूके, युक्रेन और यूएसए जैसे देश शामिल है। 3 दिनों के इस आयोजन में 25000 कारोबार आगंतुक पहुंचेंगे। उद्योग जगत के लीडर्स जैसे फुजित्सु जनरल इंडिया, डैकिन, डेनफोस, ब्लूस्टार, टाटा वोल्टास, मित्सुबिशी हैवी, शार्प इंडिया, हायर एचवीएसी सोल्युशन्स, ऐज टेक आदि इस प्रदर्शन में हिस्सा लेंगे।

उद्योग जगत के परिप्रेक्ष्यों पर रोशनी डालते हुए श्री सुशील चौधरी, चेयरमैन, एकरेक्स इंडिया 2024 ने कहा, ‘‘एक्रेक्स इंडिया भारत के एचवीएसी सेक्टर में विकार्बोनीकरण, टेक्नोलॉजी सशक्तीकरण, इनोवेशन एवं सप्लाई चेन के इंटीग्रेशन जैसे पहलुओं पर रोशनी डालेगा। यह ‘मेक इन इंडिया’ दृष्टिकोण के अनुरूप भारत को विश्वस्तरीय मैनुफैक्चरिंग हब के रूप में स्थापित करेगा। उद्योग जगत ने महामारी के बाद के दौर में भारत की दृढ़ता का उदाहरण प्रस्तुत किया है। 2023 में भारत में संचालित एयर कंडीशनर्स तकरीबन 190TWH  बिजली की खपत करते हैं (नेशनल टोटल का 10 फीसदी से अधिक) यह आंकड़ा 2038 तक 600TWH  तक पहुंचने की उम्मीद है। देश के पहले, दूसरे एवं तीसरे स्तर के शहरों में रिहायशी इमारतों में इनकी मांग बढ़ गई है, आज एयर कंडीशनर लक्ज़री नहीं बल्कि ज़रूरत बन गया है।’’

एक्रेक्स इंडिया की घोषणा पर बात करते हुए श्री योगेश मुद्रास, मैनेजिंग डायरेक्टर, इनफोर्मा मार्केट्स इंडिया ने कहा, “भारत का एचवीएसी मार्केट 2023 में 9.1 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया और 2025-29 के बीच इसमें 14.5 फीसदी की दर से बढ़ने का अनुमान है। रिहायशी, कमर्शियल एवं ओद्यौगिक सेक्टरों में उर्जा प्रभावी सिस्टम की मांग बढ़ने के कारण यह मार्केट लगातार विकसित हो रहा है।  एक्रेक्स इंडिया उद्योग जगत के लीडर्स एवं इनोवेटर्स को महत्वपूर्ण मंच प्रदान करता है। ‘विकार्बोनीकरण के लिए शपथ’ जैसे फीचर्स के साथ आज यह शो उद्योग जगत के सभी हितधारकों के बीच अपनी प्रतिष्ठा को मजबूती से स्थापित कर चुका है।”

इस अवसर पर के जे जावा, चेयरमैन एवं एमडी, डैकिन इंडिया ने कहा, ‘‘भारत में स्मार्ट  एचवीएसी सिस्अम की ओर झुकाव बढ़ रहा है। उर्जा की खपत बढ़ने और सिस्टम दक्षता बढ़ने के साथ उपभोक्ता इंटेलीजेन्ट एचवीएसी सिस्टम्स को चुन रहे हैं, क्योंकि इनमें बेहतर कंट्रोल, रियल-टाईम  मॉनिटरिंग, अडवान्स्ड बिल्डिंग ऑटोमेशन और आईओटी इंटीग्रेशन जैसे फीचर्स होते हैं। दुनिया भर में तापमान बढ़ने के कारण सूखा, बाढ़, लू आदि की तीव्रता एवं आवृति बढ़ी है, जिसकी वजह से आर्द्रता बढ़ने के कारण एचवीएसी उपकरणों के परफोर्मेन्स और उनमें उर्जा की खपत पर भी प्रभाव पड़ता है।

दिल्ली-एनसीआर में एक्रेक्स इंडिया का यह संस्करण पेशेवरों को उनका कारोबार बढ़ाने के लिए मंच प्रदान करेगा, यहां उद्योग जगत की आधुनिक सामग्री, उपकरणों, तकनीकों एवं इनोवेशन्स को प्रदर्शित किया जाएगा। इस शो को देशी-विदेशी संगठनों जैसे रेफ्रीजरेशन एण्ड एयर कंडीशनिंग ट्रेड्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया एयर कंडीशनिंग एण्ड रेफ्रीजरेशन एसोसिएशन, अमेरिकन सोसाइटी ऑफ हीटिंग, रेफ्रीजरेटिंग एण्ड एयर-कंडीशनिंग इंजीनियर्स, इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ अमोनिया रेफ्रीजरेशन, एसोचैम इंडिया, इंडियन प्लम्बिंग एसोसिएशन, इंडिया ग्रीन बिल्डिंग काउन्सिल, एफएसएआई का समर्थन प्राप्त है। यह शो आपूर्तिकर्ताओं और खरीददारों के बीच के अंतर को दूर करेगा।